विज्ञापन
विज्ञापन
जन्मतिथि से बनवाएं अपनी फ्री जन्मकुंडली और जानें आने वाले समस्त शुभ - अशुभ योग
Kundali

जन्मतिथि से बनवाएं अपनी फ्री जन्मकुंडली और जानें आने वाले समस्त शुभ - अशुभ योग

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

जम्मू-कश्मीरः बडगाम मुठभेड़ में जैश कमांडर समेत दो आतंकी ढेर, इलाका सील

मध्य कश्मीर के बडगाम जिले के आरिबाग मचहामा इलाके में मंगलवार की रात मुठभेड़ में दो आतंकी मार गिराए गए। इस दौरान क्रॉस फायरिंग में जिस मकान में आतंकी छिपे थे उसमें भीषण आग लग गई। सूत्रों ने बताया कि मारे गए आतंकियों में जैश ए मोहम्मद का कमांडर भी शामिल है। 

आतंकियों की मौजूदगी की सूचना पर सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान घेरा सख्त होता देख आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई से मुठभेड़ शुरू हो गई। कुछ देर तक दोनों ओर से फायरिंग के बाद दूसरी ओर से फायरिंग आनी बंद हो गई।

कुछ घंटों के बाद रात साढ़े 11 बजे के बाद दोबारा से फायरिंग शुरू हो गई। इसके साथ ही धमाकों की भी आवाज सुनी गई। गांव के सभी प्रवेश व निकास द्वार को सील कर दिया गया है ताकि आतंकी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग न निकलें। 
... और पढ़ें
जिस मकान में आतंकी छिपे थे उसमें क्रॉस फायरिंग के दौरान आग लग गई... जिस मकान में आतंकी छिपे थे उसमें क्रॉस फायरिंग के दौरान आग लग गई...

जम्मू-कश्मीर में अब कोई भी खरीद सकता है जमीन, गृह मंत्रालय ने जारी की सूचना

गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर में जमीन खरीद-बिक्री के संबंध में मंगलवार को महत्वपूर्ण सूचना जारी की है। मंत्रालय द्वारा जारी किए गए निर्देश के मुताबिक अब केंद्र शासित प्रदेश में कोई भी व्यक्ति जमीन खरीद सकता है और वहां बस सकता है। हालांकि, अभी खेती की जमीन को लेकर रोक जारी रहेगी।
 

गृह मंत्रालय ने ये फैसला जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम के अंतर्गत लिया है। इसके तहत अब कोई भी भारतीय जम्मू-कश्मीर में फैक्ट्री, घर या दुकान के लिए जमीन खरीद सकता है। इसके लिए उसे किसी भी तरह के स्थानीय निवासी होने का सबूत देने की जरूरत नहीं होगी।

उमर अब्दुल्ला ने जताई नाराजगी
वहीं अलगाववादी नेता उमर अब्दुल्ला केंद्र सरकार के इस फैसले से एक बार फिर भड़क उठे हैं। उन्होंने ट्वीट कर इस फैसले पर नाराजगी जताई है। उन्होंने ट्वीट किया कि जम्मू-कश्मीर में जमीन के मालिकाना हक से संबंधित कानून में जो बदलाव किए गए हैं, वो अस्वीकार्य हैं। अब तो बिना खेती वाली जमीन के लिए स्थानीयता का सबूत भी नहीं देना होगा। अब जम्मू-कश्मीर बिक्री के लिए तैयार है, जो गरीब जमीन का मालिक है अब उसकी मुश्किलें बढ़ जाएंगी।



बता दें कि केंद्र सरकार ने पिछले साल अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी कर दिया था। इसके बाद 31 अक्तूबर 2019 को जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश बन गया था। अब इसके केंद्र शासित प्रदेश बनने के एक साल बाद जमीन के कानून में बदलाव किया गया है।

बता दें कि इससे पहले जम्मू-कश्मीर में सिर्फ वहां के निवासी ही जमीन की खरीद-फरोख्त कर सकते थे। मोदी सरकार की नई अधिसूचना के मुताबिक अब बाहर के लोग भी यहां जमीन खरीद सकते हैं।


  ... और पढ़ें

जम्मू-कश्मीर: घुसपैठ की नाकाम कोशिशों से बौखलाए आतंकी, दिवाली पर फिदायीन हमले की रच रहे साजिश

बार-बार घुसपैठ की नाकाम कोशिशों से बौखलाए आतंकी दिवाली पर फिदायीन हमला करने की साजिश रच रहे हैं। सूत्रों के अनुसार जम्मू, सांबा, कठुआ, पंजाब के इलाकों में आतंकी हमला करने की फिराक में हैं। 

खुफिया एजेंसियों ने आतंकियों, पाकिस्तानी सेना और पाकिस्तान खुफिया एजेंसी आईएसआई की आपस में होने वाली बातचीत को इंटरसेप्ट किया है। इसके बाद सरहद पर सुरक्षा व्यवस्था मजबूत कर दी गई है। सैन्य और अन्य सुरक्षा ठिकानों की सुरक्षा भी पुख्ता की गई है। 

श्रीनगर में भी सुरक्षाबलों को अलर्ट कर दिया गया है। खुफिया एजेंसियों ने कहा है कि आतंकी हमला करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल कर सकते हैं। सूत्रों का यह भी कहना है कि पुंछ, राजोरी, कुपवाड़ा, बारामुला, बांदीपोरा में एलओसी पर पाकिस्तान की बार्डर एक्शन टीम (बैट) भी सक्रिय हो गई है। 

जो सेना पर हमला करने के फिराक में है। यही नहीं, पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी प्रदेश में दंगे भी भड़काना चाहती है। आतंकियों की नापाक साजिश के बाद रेलवे स्टेशन, सैन्य प्रतिष्ठानों, नेशनल हाइवे और पुलिस थानों की सुरक्षा बढ़ाई गई है।

सीमा पार आतंकी घुसैपठ की फिराक में
प्रदेश में कुछ दिन में ही जिला परिषद के चुनाव भी होने जा रहे हैं। साथ ही दिवाली भी आने लगी है। इसे देखते हुए प्रदेश पुलिस ने कमर कस ली है। सोमवार को जम्मू संभाग के आईजी मुकेश सिंह ने पुंछ जिले का दौरा भी किया। यहां पर सुरक्षा के कई पहलुओं पर बातचीत हुई। 

सैन्य प्रवक्ता का कहना है कि सीमा पार बड़े स्तर पर आतंकी घुसपैठ के लिए तैयार बैठे हैं। वह हर एक खास अवसर पर कुछ करना चाहते हैं। बार-बार घुसपैठ की असफल कोशिशें कर रहे हैं। सेना पाकिस्तान की हर एक साजिश का जवाब देने के लिए सक्षम और तैयार है।
... और पढ़ें

लेह में सेना ने मनाया 74वां इंफैंट्री दिवस, वीर शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि

देश आज 'इंफैंट्री दिवस' यानि पैदल सेना दिवस मना रहा है। दुनिया की सर्वक्षेष्ठ सेनाओं में से एक भारतीय सेना ने मंगलवार को केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में 74वां इंफैंट्री दिवस पूरे जोश के साथ मनाया।

लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन, जनरल ऑफिसर कमांडिंग, 'फायर एंड फ्यूरी' कॉर्प्स ने लेह के वार मेमोरियल में माल्यार्पण कर उन सभी बहादुर नायकों को श्रद्धांजलि दी, जिन्होंने देश के लिए बलिदान दिया है।

सेना हर साल 27 अक्तूबर को 'इंफैंट्री दिवस' के रूप में मनाती है, क्योंकि इसी दिन सिख रेजिमेंट की पहली बटालियन श्रीनगर एयरबेस पर पाकिस्तान सेना की बुरी नियत को विफल करते हुए अद्मय साहस का परिचय दिया था। सेना ने आज के ही दिन कश्मीर की उस जमीन से पाक सैनिकों को खदेड़ दिया था जहां उन्होंने आदिवासी हमलावरों की मदद से आक्रमण कर दिया था।
 
... और पढ़ें

तस्वीरें : साथी के मारे जाने से घबराया आतंकी, सुरक्षाबलों के सामने किया आत्मसमर्पण

लेह में मनाया गया इंफैंट्री दिवस

एलओसी पर 250-300 आतंकी घुसपैठ की फिराक में, लेफ्टिनेंट जनरल राजू बोले, सेना स्थिति से निपटने को तैयार

सेना की 15वीं कोर के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू ने कहा कि एलओसी पर स्थिति नियंत्रण में है। सीजफायर उल्लंघन की घटनाओं में भी कमी आई है। इस बार घुसपैठ की कोशिशों को नियंत्रण में रखने में काफी हद तक सफल हुए हैं। अभी भी 250-300 आतंकी लौंचिंग पैड्स पर तैयार बैठे हुए हैं। जल्द ही सर्दियां शुरू होने वाली हैं और उससे पहले घुसपैठ की कोशिशें तेज हो सकती हैं। लेकिन सेना के एलओसी पर तैनात जवान किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। किसी भी घुसपैठ की कोशिश को कामयाब होने नहीं देंगे। जीओसी सोमवार को बडगाम जिले के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल यूसमर्ग में आयोजित ‘यूसमर्ग फेस्टिवल’ में बोल रहे थे।

राजू ने कहा कि हर साल यह फेस्टिवल करवाते हैं। उन्होंने कहा कि तीन साल पहले जब वे जीओसी विक्टर फोर्स थे उस समय भी आयोजित किया गया था, लेकिन आज इसमें अवाम की उपस्थिति ज्यादा है। काफी ज्यादा संख्या में लोग इसका लुत्फ  उठा रहे हैं। फेस्टिवल के सफल आयोजन के लिए उन्होंने अवाम और सेना को बधाई दी। 

आतंक का रास्ता त्यागने का आह्वान
जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू ने कहा कि आतंकवाद का रास्ता बर्बादी की तरफ ले जाएगा, इसलिए कश्मीरी युवाओं को जो अवसर और समय मिल रहा है उसका पूरा फायदा उठाएं। जम्मू-कश्मीर में अच्छा माहौल है और हम सही राह पर चल रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि हमने पहले भी कई बार यह संदेश दिया है कि जो कोई भी हथियार उठाता है, उस पर हम कार्रवाई करेंगे। लेकिन अगर कोई ऐसा हो, जिसने हथियार उठाया है और वापस मुख्यधारा में आना चाहता है, हम उसे वापस आने का पूरा मौका देना चाहते हैं। इसके दो-तीन उदाहरण हाल ही में देखने को मिले हैं। 

राजू ने कहा कि हम आगे भी यही पैगाम देना चाहते हैं कि कोई भी नौजवान जो आतंकवाद के रास्ते पर चला है, हम उसको वापस लाने के लिए तैयार हैं। आतंकवाद का रास्ता कहीं ले जाने वाला नहीं है, इसलिए जो अवसर यहां उनको मिल रहे हैं, उनका पूरा फायदा उठाएं।
... और पढ़ें

मोदी-शाह का बना बनाया खेल बिगाड़ सकते हैं अब्दुल्ला और महबूबा! अच्छे संकेत नहीं दे रहे आग उगलने वाले बयान

आईबी पर पाकिस्तानी ने साढ़े छह घंटे की गोलाबारी, कई घरों को हुआ भारी नुकसान

अंतराष्ट्रीय सीमा (आईबी) पर पाकिस्तान बिना उकसावे के गोलाबारी कर रिहायशी इलाकों को निशाना बनाने से बाज नहीं आ रहा। रविवार रात हीरानगर सेक्टर के मनियारी और चक चंगा गांवों पर पाकिस्तानी सेना ने लगभग साढ़े छह घंटे भारी गोलाबारी की। लोगों के घरों पर अंधाधुंध मोर्टार के गोले दागे, जिससे तीन घरों की छत व कई घरों की दीवारों को नुकसान पहुंचा। कई पशु भी जख्मी हो गए। पाकिस्तान की नापाक हरकत का भारतीय सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया।

जानकारी के अनुसार, रविवार रात करीब दस बजे पाकिस्तानी रेंजर्स ने गोलाबारी शुरू की जो सुबह साढ़े चार बजे तक जारी रही। मनियारी के बूटा राम और चक चंगा के सुंदरलाल व मुकेश कुमार के घरों पर गोले गिरने से छतों को भारी नुकसान हुआ। इसके अलावा कई घरों की दीवारों, छतों पर रखी पानी की टंकियों को भी नुकसान हुआ। मनियारी के कालिदास के खेतों में गोला फटने से वहां बंधी भैंस घायल हो गई। 

लगातार तीसरे दिन पाक रेजरों ने संघर्ष विराम का किया उल्लंघन
सांबा जिले के राजपुरा तहसील के सीमावर्ती क्षेत्रों मे चल रहे सुरक्षा डिच के निर्माण को रोकने के लिए पाकिस्तानी रेंजर्स ने आईबी पर सीजफायर का उल्लंघन कर गोलाबारी की।गोलबारी का उद्देश्य विकास कार्यों को बाधित करना था। 

रक्षा सूत्रों के अनुसार, की बंई नाला क्षेत्र मे एक पुली का निर्माण कार्य चल रहा है। जिस पर पिछल तीन दिनों से पाक रेंजर रुक-रुक कर गोलीबारी कर रहे हैं। रविवार रात भी सीमा पार से गोलाबारी की गई। हालांकि किसी प्रकार के नुकसान की सूचना नहीं है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X