विज्ञापन
विज्ञापन
कार्यक्षेत्र में सफलता के जानें विशेष योग, आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली !
Kundali

कार्यक्षेत्र में सफलता के जानें विशेष योग, आज ही बनवाएं फ्री जन्मकुंडली !

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

Coronavirus in Himachal: 15 पॉजिटिव मरीजों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 40 हजार पार

हिमाचल प्रदेश में 15 और कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजों की मौत हो गई है। सोमवार को टांडा मेडिकल कॉलेज में पांच कोरोना संक्रमितों ने दम तोड़ दिया। भरियाल कांगड़ा के 77 वर्षीय बुजुर्ग, थरोट चामी शाहपुर की 56 वर्षीय महिला, कुठौड़ा पालमपुर की 55 वर्षीय महिला, पालमपुर के 61 वर्षीय बुजुर्ग और योल के 42 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। नेरचौक मेडिकल कॉलेज एवं कोविड अस्पताल में छह कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो गई है। कुल्लू हनुमानी बाग निवासी 66 वर्षीय संक्रमित बुजुर्ग, कुल्लू कटराईं निवासी 74 वर्षीय बुजुर्ग संक्रमित महिला, बिलासपुर के चुहरड़ी निवासी 84 वर्षीय संक्रमित बुजुर्ग, गुटकर निवासी 65 वर्षीय बुजुर्ग संक्रमित महिला और कपरीडी बड़सर हमीरपुर के 71 वर्षीय संक्रमित बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया। ढालपुर के 67 वर्षीय बुजुर्ग ने देर शाम को दम तोड़ दिया। आनी के 56 व्यक्ति ने नेरचौक और बंजार की 68 वर्षीय महिला ने कुल्लू अस्पताल में दम तोड़ दिया। ऊना के गगरेट का 88 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई। वहीं, सोलन के कुमारहट्टी स्थित एमएमयू में 53 वर्षीय संक्रमित व्यक्ति ने दम तोड़ दिया।  

प्रदेश में सोमवार को कोरोना वायरस के 543 नए मामले आए हैं। शिमला 164, मंडी 66, कांगड़ा 98, सोलन 66, बिलासपुर 39, कुल्लू 34, ऊना 23, चंबा 12, सिरमौर 19, हमीरपुर 14 और लाहौल-स्पी   ति- किन्नौर में 4-4 नए मामले आए हैं। इसके साथ ही प्रदेश में संक्रमितों का कुल आंकड़ा 40518 पहुंच गया है। 8289 सक्रिय मामले हैं। 31548 मरीज ठीक हो चुके हैं। 635 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। हमीरपुर में जिला भाजपा सह प्रवक्ता के कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अर्चना सोनी ने इसकी पुष्टि की है।   
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

ठीक हो चुके संक्रमित कोविड वार्ड में आकर बढ़ाएं मरीजों का हौसला, मंत्री की अजीबोगरीब अपील

कोरोना महामारी की चपेट में आने पर आईजीएमसी शिमला में उपचार करवाकर स्वस्थ होकर घर लौट चुके मरीजों से प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री ने अजीबोगरीब अपील की है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कोरोना को मात दे चुके मरीजों से अपील की है कि वे स्वेच्छा से अस्पताल के आइसोलेशन कोविड वार्ड में सेवाएं दें। वे कोविड वार्ड में आकर कोरोना मरीजों का हौसला बढ़ाएं।

सोमवार को आईजीएमसी अस्पताल शिमला के दौरे पर आए स्वास्थ्य मंत्री डॉ. सैजल ने मीडिया से बातचीत में यह बात कही। उन्होंने कोरोना को मात दे चुके मरीजों से स्वेच्छा से अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में सेवाएं देने की अपील की। मंत्री ने कहा कि इन मरीजों के ठीक होने के बाद इनमें एंटीबॉडी तैयार हो गई है। हालांकि, उन्होंने यह स्पष्ट किया कि इन लोगों से यहां किसी भी तरह का तकनीकी कार्य नहीं करवाया जाएगा। ये लोग केवल यहां दाखिल मरीजों का हौसला बढ़ाएंगे और उनसे बातचीत कर अपना अनुभव साझा करेंगे।

उन्होंने कहा कि आईजीएमसी अस्पताल में कोविड-19 मरीजों के लिए 200 बिस्तरों तक की क्षमता बढ़ाई जा सकती है। स्वास्थ्य मंत्री ने मेकशिफ्ट फैब्रिकेटिड अस्पताल का भी दौरा किया। उन्होंने बताया कि यह अस्पताल जल्द बनकर तैयार हो जाएगा। उधर, एक विशेषज्ञ डॉक्टर का कहना है कि जो मरीज अभी कोरोना पॉजिटिव होकर निगेटिव हुए हैं, वे इस तरह का खतरा न लें। उन्हें करीब ढाई से तीन महीने तक आराम करने और इम्युनिटी बढ़ाने की जरूरत होती है। ऐसे मरीजों में किसी भी तरह का स्ट्रेस लेने से खतरा पैदा हो सकता है, इसलिए एहतियात रखें।

ई ब्लॉक से बी ब्लॉक तक बिना सैनिटाइज पहुंच गए मंत्री
उधर सूत्रों के अनुसार आईसोलेशन वार्ड से स्वास्थ्य मंत्री जब बाहर आए तो ई ब्लॉक से बी ब्लॉक के स्पेशल वार्ड तक बिना सैनिटाइज हुए पहुंच गए। ऐसे में आईजीएमसी प्रबंधन पर की बड़ी लापहवाही सामने आई।
... और पढ़ें

ड्यूटी में लापरवाही पर पांच पुलिस कर्मचारी और दो होमगार्ड निलंबित

ड्यूटी के प्रति लापरवाही बरतने के आरोप में एसपी बद्दी ने पुलिस जिला बद्दी के 7 कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। कुछ लोग रात्रि ड्यूटी पर हाजिर नहीं थे। बद्दी पुलिस के आला अधिकारियों ने रात्रि गश्त की चेकिंग के लिए औचक निरीक्षण किया। अधिकारी यह देखकर दंग रह गए कि कुछ कर्मचारी रात्रि ड्यूटी पर हाजिर ही नहीं । इसके अलावा कुछ कर्मी सामान्य नागरिकों के साथ तफरीह कर रहे थे। कुछ पुलिस कर्मचारी ऐसे भी थे, जो वर्दी में न होकर साधारण कपड़ों में थे। 

बद्दी पुलिस के आला अधिकारियों ने चेकिंग और कैमरों के माध्यम से तुरंत उसकी जांच बैठाई तो सात पुलिस कर्मचारी इसकी जद में आ गए। एसपी रोहित मालपानी ने बताया कि विभिन्न क्षेत्रों में तैनात पुलिस कर्मियों को ड्यूटी के प्रति लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित किया है। इनमें पांच पुलिस कर्मी, दो होमगार्ड हैं। पांच कर्मी बरोटीवाला पुलिस स्टेशन और दो कर्मी पुलिस स्टेशन बद्दी से संबधित हैं। सभी को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। ड्यूटी में कोताही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
... और पढ़ें

हिमाचल में पांच तक मौसम साफ, ऊंची चोटियों पर इस दिन बर्फबारी के आसार

हिमाचल में पांच दिसंबर तक मौसम साफ रहेगा। छह दिसंबर को प्रदेश की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी के आसार हैं। सोमवार को राजधानी शिमला सहित प्रदेश के सभी क्षेत्रों में मौसम साफ रहा। धूप खिलने से अधिकतम तापमान में सामान्य से एक से दो डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज हुई। सोमवार को ऊना में अधिकतम तापमान 27.6, सुंदरनगर में 28.4, सोलन में 25.0, कांगड़ा में 24.6, बिलासपुर-नाहन में 24.0, हमीरपुर में 23.8, चंबा में 23.2, मंडी में 22.2, भुंतर में 22.4, शिमला में 18.8, धर्मशाला में 17.2, मनाली में 15.0, डलहौजी में 14.3, कल्पा में 13.2 और केलांग में 6.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।

उधर, रविवार रात को भी मैदानी जिलों का न्यूनतम तापमान शिमला, धर्मशाला और डलहौजी से कम रहा। रविवार रात को नाहन में न्यूनतम तापमान 12.3, शिमला में 10.2, कुफरी में 10.4, डलहौजी में 9.9, धर्मशाला में 8.4, कांगड़ा में 7.6, हमीरपुर में 7.2, ऊना-बिलासपुर में 7.0, मंडी में 6.0, सोलन में 4.6, भुंतर में 4.5, सुंदरनगर में 4.3, मनाली में 4.0, कल्पा में 1.2 और केलांग में माइनस 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।
... और पढ़ें

रात्रि समारोहों में भीड़ पर अंकुश लगाने के लिए लगाया नाइट कर्फ्यू: जयराम

फाइल फोटो
सर्दी के मौसम में रात को बाहर कार्यक्रम नहीं हो सकते हैं, जबकि इंडोर कार्यक्रम में एक भी आदमी संक्रमित होगा तो वह सभी को करेगा। ठीक वैसे ही रात को आवाजाही नियंत्रित करने करने के लिए सरकार ने अंकुश लगाया। जब गाड़ियां चलाई जाती हैं तो ठंड में वाहनों के शीशे बंद होते हैं। इससे भी सबके संक्रमित होने का डर बढ़ जाता है। इसीलिए रात्रि कर्फ्यू लगाया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को सोशल मीडिया में लोगों से अपील की कि वे सार्वजनिक समारोहों में भीड़ न जुटाएं। 

कहा कि प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़ना चिंता का विषय है। इस वजह से कड़े कदम भी उठाने पड़ रहे हैं। विवश होकर इसके अलावा कोई रास्ता नहीं है। बहुत से लोगों को असुविधा हुई होगी, पर हमारे पास नियमों को सख्ती से लागू करने के अलावा कोई चारा नहीं है। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर लोग वैसी गंभीरता नहीं दिखा रहे हैं, जैसी होनी चाहिए। एक समय था जब हिमाचल कोरोना संक्रमण रोकने के प्रबंधन में अव्वल था। अब दुख की बात यह है कि प्रदेश उन राज्यों में शुमार हो गया है, जहां कोरोना संक्रमण की स्थिति चिंताजनक है। सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि यह संकट है, पर यह छोटा नहीं है। इसमें सबको सजग रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता है कि सभी इससे बचे रहें। 
... और पढ़ें

हिमाचल के सरकारी स्कूलों में कल से नौवीं से 12वीं कक्षा की सेकेंड टर्म परीक्षाएं

हिमाचल के सरकारी स्कूलों में नौवीं से 12वीं कक्षा की मंगलवार से परीक्षाएं शुरू होंगी। ऑनलाइन ली जाने वाली सेकेंड टर्म की इन परीक्षाओं के पहले दिन नौवीं और दसवीं कक्षा की अंग्रेजी, जमा एक और जमा दो कक्षा की इतिहास, फिजिक्स और अकाउंटेंसी विषय की परीक्षा होगी। मोबाइल फोन से वंचित विद्यार्थियों को परीक्षाएं देने के लिए घरों पर ही प्रश्नपत्र मुहैया करवाए जाएंगे। 

ऑनलाइन परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को व्हाट्सएप के माध्यम से पासवर्ड से लॉक प्रश्नपत्र भेजे जाएंगे। परीक्षा शुरू होने से पहले संबंधित शिक्षक पासवर्ड भेजेंगे। निर्धारित समय के भीतर परीक्षा पूरी करने के बाद विद्यार्थियों को व्हाट्सएप के माध्यम से ही आंसरशीट की फोटो लेकर शिक्षक को वापस भेजनी होगी। घर बैठ कर परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों की निगरानी का जिम्मा अभिभावकों पर सौंपा गया है।

जिन विषयों को हर घर पाठशाला कार्यक्रम के तहत नहीं पढ़ाया जा रहा है और शिक्षक अपने स्तर पर उन विषयों को पढ़ा रहे है तो ऐसे विषयों की परीक्षाएं स्कूल स्तर पर दस से 14 दिसंबर के बीच होगी। नौवीं और दसवीं कक्षा की मुख्य विषयों की परीक्षा आठ दिसंबर और जमा एक और जमा दोत कक्षा की मुख्य विषयों की परीक्षाएं नौ दिसंबर को समाप्त हो जाएंगी।

30 नवंबर तक पढ़ाए गए सिलेबस के आधार पर परीक्षाएं होंगी। स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से कम किए गए तीस फीसदी सिलेबस और अधिक विकल्पों के प्रश्नों के आधार पर ही बोर्ड कक्षाओं की परीक्षाएं ली जाएंगी। 15 दिसंबर तक अभिभावकों के माध्यम से विद्यार्थियों को अपनी आंसरशीट स्कूलों में जमा करवानी होगी। 23 दिसंबर तक शिक्षक आंसरशीटों की जांच करेंगे। तीस दिसंबर तक ई संवाद के माध्यम से शिक्षकों को परीक्षा परिणाम जमा करवाना होगा।
... और पढ़ें

हिमाचल के चार जिलों में नहीं शुरू होगी पोर्टेबिलिटी योजना

प्रकाश पर्व: कोरोना संकट में टूटी सैकड़ों साल पुरानी परंपरा, नहीं निकला नगर कीर्तन

कोरोना का असर इस बार गुरु पर्व समेत हर त्योहार पर पड़ा है। करीब 300 वर्षों में पहली बार नगर कीर्तन नहीं हुआ। अन्य कार्यक्रम भी सूक्ष्म रूप से आयोजित किए गए। ऐतिहासिक पांवटा साहिब गुरुद्वारा में इस वर्ष गुरु पर्व पर रौनक कम रही। बाहरी राज्यों से इस बार संगतें काफी कम पहुंचीं। गुरु नानक देव जी का 551वां प्रकाश पर्व मनाया गया। तीन शताब्दियों में प्रथम बार पांवटा साहिब में नगर-कीर्तन नहीं निकाला गया। गुरु पर्व के मौके पर ऐतिहासिक गुरुद्वारा में अन्य सभी कार्यक्रम पहले की तरह ही हुए। सोमवार को कार्यक्रम का समापन हुआ।

इस दौरान अखंड पाठ साहब, कीर्तन दरबार, ढाढी दरबार, बच्चों का कवि दरबार हुआ। कोरोना के चलते छोटी काशी मंडी के पड्डल में भी संगत और प्रभात फेरी की परंपरा करीब 319 साल बाद तोड़ी गई। सोमवार को पड्डल स्थित गुरुद्वारा में सूक्ष्म अंदाज से गुरुनानक देव जी की 551वीं जयंती पर कार्यक्रम हुए। न प्रभातफेरी निकली गई और न ही नगर कीर्तन हुआ। प्रकाशोत्सव पर केवल कीर्तन दरबार सजाया गया। इसमें संगत भी काफी कम दिखी। गुरु गोबिंद सिंह गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी के प्रधान सुरेंद्र पाल सिंह भाटिया ने बताया कि इस बार कोरोना महामारी के चलते प्रभातफेरी और नगर कीर्तन नहीं हो सका। 1701 से चली आ रही परंपरा टूटी है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X