विज्ञापन
विज्ञापन
इस पौष पूर्णिमा, हरिद्वार में कराएं लक्ष्मी नारायण यज्ञ, मिलेगी कर्ज से मुक्ति
Puja

इस पौष पूर्णिमा, हरिद्वार में कराएं लक्ष्मी नारायण यज्ञ, मिलेगी कर्ज से मुक्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

HP Panchayat Election Result 2021 Live: जिला परिषद के नतीजे जारी, सोलन में पांच निर्दलीय जीते

सोलन में अभी तक 17 जिला परिषद वार्डों में से 12 के परिणाम आ गए हैं। जिसमें भाजपा चार, कांग्रेस तीन और सबसे अधिक आजाद पांच उम्मीदवार विजय हुए हैं।
सोलन जिला परिषद सदस्यों की सूची
परिषद वार्ड     विजेता              पार्टी        
दाड़ला 01       हीरा देवी          भाजपा  
धुधंन 02        भुनेश्वरी शमार    भाजपा   
डुमैहर 03       आशा परिहार     आजाद    
कुनिहार 04      अमर सिंह       आजाद    
सिरिनगर 05     लीला देवी         कांग्रेस        
सलोगड़ा 06    मनोज वर्मा          आजाद    
सपरून 07        राजेंद्र सिंह        कांग्रेस       
धर्मपुर 08      दर्पणा ठाकुर         भाजपा  
कसौली 09        रीना देवी           आजाद    
बवासनी 15      राहुल शर्मा          भाजपा   
रतवाड़ी 16      कमलेश पंवर       आजाद    
कुंडलू 17        मुख्तयार कौर        कांग्रेस        

जिला परिषद सोलन के दाडवा वार्ड से भाजपा के रमेश ठाकुर विजयी घोषित।


हमीरपुर के नतीजे 
हमीरपुर जिले के धिरड वार्ड से भाजपा के जिला महामंत्री एवं युवा मोर्चा के पूर्व जिला अध्यक्ष अभय वीर सिंह लवली जिला परिषद चुनाव हारे। इस सीट से पवन कुमार 2000 मतों से जीते। यह वार्ड केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर, पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल और वर्तमान में भाजपा की विधायक कमलेश कुमारी का गृह क्षेत्र है।

हमीरपुर जिले के कांग्रेस विधायक एवं प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र राणा के गृह क्षेत्र में कमल खिला। बीड़ बगेहड़ा वार्ड से भाजपा के कैप्टन रंजीत सिंह 2488 मत लेकर विजयी हुए। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र सिंह डोगरा की जमानत जब्त हुई। बीड़ बगेहड़ा जिला परिषद वार्ड से 8846 मतों में से मिले सिर्फ 522 मत।

हमीरपुर के वार्ड नंबर 2 करोट से भाजपा की जिला परिषद प्रत्याशी पूनम डोगरा हारीं, कांग्रेस की सुमना देवी ने जीत दर्ज की।
हमीरपुर के जिला परिषद वार्ड नंबर 11 से भाजपा समर्थित राजेश कुमार मांगा, वार्ड 13 बडसर से बीना शर्मा और वार्ड 14 दांदडू से संजीव कुमार संजू चुनाव जीते। वार्ड 12 बिझड़ी से जिला परिषद प्रत्याशी कांग्रेस की मीना चुनाव जीतीं।

ऊना के नतीजे 
ऊना जिले के भंजाल जिला परिषद वार्ड से आजाद प्रत्याशी चैतन्य शर्मा ने एकतरफा जीत दर्ज की।
ऊना जिले के ललड़ी जिला परिषद वार्ड से भाजपा के कमल सैनी जीते।
ऊना जिले के पालकवाह जिला परिषद वार्ड से कांग्रेस प्रत्याशी नरेश कुमारी जीतीं।

किन्नौर जिला परिषद परिणाम में 5 सीटों पर भाजपा और 5 पर कांग्रेस ने कब्जा किया है।

सिरमौर में जिला परिषद के 11 परिणाम घोषित
भाजपा   5
कांग्रेस    5
निर्दलीय  1

सोलन जिला
कंडाघाट जिला परिषद
लीला देवी ठाकुर-5836
सुनीता रोहाल-5585
निर्मला ठाकुर-4554
रीता-1085
लीला देवी ठाकुर 251 से विजयी

सोलन जिला के वार्ड नंबर 9 कसोली गढखल से आजाद जिला परिषद प्रत्याशी रीना देवी विजयी।

सोलन जिले में भाजपा समर्थक पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष और सदस्य रह चुकी शीला कुमारी को आजाद उम्मीदवार मनोज कुमार ने 1381 वोटों से हराया।

सोलन जिले में सलोगड़ा जिला परिषद वार्ड से मनोज वर्मा जीते, कुमारी शीला व बलदेव ठाकुर को 1381 वोटों से हराया।
 मनोज-5997
कुमारी शीला-4616
बलदेव ठाकुर-2881

सोलन के जिला परिषद वार्ड नंबर 8 धर्मपुर से दर्पणा ठाकुर 2300 वोटों से जीतीं।

बिलासपुर के नतीजे
बिलासपुर जिले के बरठीं वार्ड नंबर-5 से जिला परिषद की कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार 25 वर्षीय शालू राणावत 900 वोटों से जीती। प्रदेश के खाद्य आपूर्ति मंत्री राजेंद्र गर्ग की करीबी भाजपा की उषा ठाकुर को हराया।

बिलासपुर जिले के ननावां वार्ड से निर्दलीय जिला परिषद प्रत्याशी बेली राम ने कांग्रेस के मेहर चंद को 973 वोट से हराया। भाजपा प्रत्याशी तीसरे नंबर पर रहे।

बिलासपुर जिले के स्वारघाट के स्वाहण से भाजपा के जिला परिषद प्रत्याशी मान सिंह ने निर्दलीय प्रत्याशी होशियार सिंह को हराया। कांग्रेस प्रत्याशी तीसरे स्थान पर रहे।

बिलासपुर जिले के डंगार वार्ड से कांग्रेस विचारधारा के जिला परिषद प्रत्याशी आईडी शर्मा जीते। भाजपा के कुल्तार पटियाल को हराया। कांग्रेस ने डंगार वार्ड से प्रत्याशी घोषित नहीं किया था।

बिलासपुर जिले के नमहोल वार्ड से भाजपा के जिला परिषद प्रत्याशी प्रेम सिंह जीते, निर्दलीय उम्मीदवार कुलदीप को 2396 मतों से हराया।

बिलासपुर जिले के झंडूता के बैहना जट्टा वार्ड से भाजपा की जिला परिषद प्रत्याशी शैलजा शर्मा जीतीं।

बिलासपुर जिले के जुखाला से भाजपा की जिला परिषद प्रत्याशी सत्या ठाकुर जीतीं, कांग्रेस की सीमा ठाकुर को हराया।

हमीरपुर जिले में भाजपा 9, कांग्रेस 6, कामरेड एक और दो निर्दलीय जीते हैं।
जिला परिषद हमीरपुर के निर्वाचित 18 सदस्यों की सूची

वार्ड 1 बगेहड़ा        रणजीत सिंह राणा(भाजपा)
वार्ड 2 करोट        सुमना देवी (कांग्रेस)
वार्ड 3 दरोगण पति कोट    बबली (भाजपा)
वार्ड 4 धलोट        मोहिंद्र सिंह (कांग्रेस)
वार्ड 5 जंगलरोपा        नरेश कुमार दर्जी (निर्दलीय)
वार्ड 6 अणु            आशा देवी (कांग्रेस)
वार्ड 7 धीरड़        पवन कुमार (निर्दलीय)
वार्ड 8 जाहू            राजकुमारी (कांग्रेस)
वार्ड 9 खरवाड        रमन वर्मा (भाजपा)
वार्ड 10 भोरंज        मनु बाला (भाजपा)
वार्ड 11 करेर        राजेश कुमार (भाजपा)
वार्ड 12 बिझड़ी        मीना कुमारी (कांग्रेस)
वार्ड 13 बड़सर        बीना देवी (भाजपा)
वार्ड 14 दांदड़ू        संजीव कुमार (भाजपा)
वार्ड 15 लहड़ा        संजीव कुमार (कॉमरेड)
वार्ड 16 मालग        संजय कुमार (कांग्रेस)
वार्ड 17 बेला        इंदु बाला (भाजपा)
वार्ड 18 नौहंगी        आशीष कुमार (भाजपा)

21 वर्षीय मुस्कान जीतीं
बिलासपुर जिले के बरमाणा वार्ड से 21 वर्षीय निर्दलीय जिला परिषद प्रत्याशी मुस्कान जीत गई हैं। मुस्कान ने आजाद उम्मीदवार मीना संधू को पराजित किया। कांग्रेस और भाजपा दोनों दौड़ से बाहर रहे।


घुमारवीं पंचायत समिति सदस्य के नतीजे
वार्ड नंबर 1 कोट राजकुमार
वार्ड नंबर 2 हटवाड सुरेंद्र सिंह 
वार्ड नंबर 3 बम पूनम लता
वार्ड नंबर 4 मैहरी काथला सतीश ठाकुर
वार्ड नंबर 5 लद्दा कमलेश कुमारी
वार्ड नंबर 6 कुठेड़ा राजेश कुमार गुलेरी
वार्ड नंबर 7 भलस्वाय सत्या देवी
वार्ड नंबर 8 तल्याणा अति देवी
वार्ड नंबर 9 कुह मुझवाड़ कमला देवी
वार्ड नंबर 10 ननावां रमेश कुमार
वार्ड नंबर 11 हरलोग संतोष कुमार
वार्ड नंबर 12 मल्यावर मधुपाल
वार्ड नंबर 13 फटोह इंद्री देवी
वार्ड नंबर 14 बकरोआ सुधा देवी
वार्ड नंबर 15 औहर कमला देवी
वार्ड नंबर 16 अमरपुर राकेश कुमार 
वार्ड नंबर 17 घुमारवीं रामपाल 
वार्ड नंबर 18 लुहारवीं निशा
वार्ड नंबर 19 कोठी रवि कौशल
वार्ड नंबर 20 मोरसिंघी सुविधा देवी
वार्ड नंबर 21 पट्टा सतीश ठाकुर
वार्ड नंबर 22 कसारू रक्षा देवी
वार्ड नंबर 23 छत सरवन सिंह
वार्ड नंबर 24 कपाहड़ा विजयलक्ष्मी
वार्ड नंबर 25 पालक सुरेंद्र कुमार
वार्ड नंबर 26 गाहर सुनीता कुमारी
वार्ड नंबर 27 पपलाह सोनिया शर्मा
वार्ड नंबर 28 डंगार सुनीता देवी
वार्ड नंबर 29 गतवाड़ चमन लाल
वार्ड नंबर 30 लेहडीसरेल रेणुका लखन पाल
वार्ड नंबर 31 भपराल राहुल
वार्ड नंबर 32 बरोटा पूनम
वार्ड नंबर 33 घण्ड़ालवीं रमेश कुमार 
वार्ड नंबर 34 मरहाणा शिल्पा रानी

बिलासपुर सदर पंचायत समिति सदस्य के नतीजे
जुखाला               नीबा   
दयोली              राम जी
निचली भटेड़      अमित   
बेनला ब्राह्मणा    रीता देवी   
चांदपुर            सपना कुमारी
बामटा                 सुमन
रघुनाथापुरा       सपना देवी
कल्लर               अंजु देवी
छड़ोल              विजय कुमार

विकासखंड झंडूता पंचायत समिति सदस्य के नतीजे
कलोल         हरदेई       
जेजवीं         सरोज कुमारी       
सलवाड़     रीना कुमारी       
मलराओं    निशा देवी       
घराण        शेर सिंह       
नघ्यार        पंकज कुमार       
जबोला      सलोचना देवी       
घंडीर           शेर सिंह       
बलोह         सुमिता देवी       
बडग़ांव       रीना चंदेल       

विकासखंड़ स्वारघाट पंचायत समिति सदस्य के नतीजे
तनबौल        वीना देवी   
कुटैहला        रंगी राम   
टाली            बबली देवी   
री                शिव कुमार   
स्वाहण        किरण कुमारी   
टरवाड़            नंद लाल   
घंडालवीं        सोमा देवी   
सलोआ          विजय कुमार   
माकड़ी          अशोक कुमार   
तरसूह            सुनीता देवी   
रोड़ जामन        सपना देवी   
धरोट              भारती   
बैहल              राम कुमार

हिमाचल प्रदेश में जिला परिषद (जिप) और पंचायत समिति (बीडीसी) के लिए आज भी मतगणना जारी है। प्रदेश को जिप के 239 और बीडीसी के 1638 नए सदस्य मिलेंगे। भाजपा विधायक जेआर कटवाल के गृह वार्ड बैहना ब्राह्मणा से कांग्रेस की जिला परिषद प्रत्याशी प्रोमिला वासु ने भाजपा की कमलेश कुमारी को 1277 वोट से पराजित किया है। बिलासपुर जिले के कुठेड़ा वार्ड से कांग्रेस की जिला अध्यक्ष अंजना धीमान जिला परिषद चुनाव हार गई हैं, उन्हें भाजपा प्रत्याशी विमला ने 2095 वोट से हरा दिया।
... और पढ़ें
हमीरपुर के बिझड़ी वार्ड से कांग्रेस जिला परिषद की विजेता उम्मीदवार मीना विधायक इंद्रदत्त लखनपाल के साथ। हमीरपुर के बिझड़ी वार्ड से कांग्रेस जिला परिषद की विजेता उम्मीदवार मीना विधायक इंद्रदत्त लखनपाल के साथ।

हिमाचल: 22 साल की उम्र में पंचायत समिति सदस्य बने ओमप्रकाश

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में पंचायत समिति के वार्ड-15 पीणी तलपीणी से ओमप्रकाश 22 साल की उम्र में बीडीसी सदस्य का चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने बतौर आजाद उम्मीदवार चार दिग्गज प्रत्याशियों को कड़ी टक्कर दी। ओमप्रकाश ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी को 182 मतों से हराया। ओम प्रकाश तलपीणी पंचायत के फलाटी गांव से संबंध रखते हैं। उन्होंने वर्ष 2017 से 2019 तक आईटीआई शमशी में ड्राफ्ट्समैन सिविल इंजीनियरिंग का डिप्लोमा किया है।

पीणी व तलपीणी पंचायत के कई गांव अभी भी सड़क से महरूम हैं। क्षेत्र में कई सुविधाओं का अभाव है। आईटीआई डिप्लोमा करने के बाद उन्होंने नौकरी नहीं की, लेकिन अब राजनीति में उतरकर अपने क्षेत्र का विकास करना चाहते हैं। ओमप्रकाश ने कहा कि वह अपने क्षेत्र की समस्याओं को प्रमुखता से उठाएंगे। पीणी सड़क के कार्य में तेजी लाई जाएगी। तलपीणी और पीणी पंचायत के रास्तों की हालत भी सुधारी जाएगी। जीत के बाद उन्हें बधाई देने वालों का तांता लगा है।
... और पढ़ें

प्रमुख सचिव की विजिलेंस करेगी आय से अधिक संपत्ति की जांच

हिमाचल सरकार के प्रमुख सचिव आईएएस जगदीश चंद शर्मा के खिलाफ स्टेट विजिलेंस आय से अधिक संपत्ति के मामले में जांच करेगी। विजिलेंस को जिला एवं सत्र न्यायाधीश वन शिमला की विशेष अदालत ने जांच के आदेश दिए हैं। आदेश में कहा है कि जांच एजेंसी तीन माह के अंदर जांच पूरी कर कोर्ट को अवगत कराए। साथ ही जांच में शिकायतकर्ता व अन्य सभी को शामिल किया जाए। पुराने मामले में याचिकाकर्ता की आपत्ति पर हाईकोर्ट ने यह आदेश सुनाया है। शर्मा वर्तमान में सीएम और आबकारी एवं कराधान विभाग के प्रमुख सचिव हैं।

दरअसल, आबकारी एवं कराधान विभाग से रिटायर्ड गीता सिंह ने जेसी शर्मा के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार के मामले में एफआईआर दर्ज कराने के लिए विजिलेंस का दरवाजा खटखटाया था। विजिलेंस ने जब सुनवाई नहीं की तो गीता कोर्ट चली गईं। कोर्ट ने 17 अक्तूबर, 2015 को शिकायत के संबंध में जांच के आदेश दिए और जांच एजेंसी ने जांच कर 6 जनवरी, 2016 को रिपोर्ट पेश की। रिपोर्ट में कहा गया कि मामले में कोई सुबूत नहीं मिला है। इस पर शिकायतकर्ता ने 12 जुलाई, 2017 को आपत्ति दर्ज कराई। इसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट तक चला गया। अब विशेष अदालत ने गीता की आपत्तियों को आधार बनाते हुए विजिलेंस को विधिवत जांच कर तीन माह में रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

ये लगाए थे गीता ने आरोप
शिकायतकर्ता गीता सिंह का आरोप था कि 2009 से 2013 के बीच आबकारी एवं कराधान आयुक्त रहते भारी भ्रष्टाचार किया और आय से अधिक संपत्ति अर्जित कर ली। शिकायत में कहा गया कि शर्मा ने शिमला जिले के कोटी में तीस बीघा जमीन बिना सरकार से अनुमति लिए खरीदी। जमीन खरीद भी साठ लाख में दिखाई गई, जबकि यह एक करोड़ से ज्यादा की डील थी। इसके अलावा कई फर्मों को लाभ पहुंचाने, भ्रष्टाचारियों को संरक्षण देने और ईमानदारों को परेशान करने जैसे आरोप लगाए गए हैं।

कोर्ट के आदेश से हैरान : जेसी शर्मा
कोर्ट के आदेश के बाद आईएएस जेसी शर्मा ने हैरानी जताई है। उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान ही शिकायतकर्ता एक लाख रुपये की घूस लेते पकड़ी गई। सोलन की अदालत में इसके खिलाफ मामला विचाराधीन चल रहा है। पकड़े जाने के बाद से लगातार गलत आरोप लगाकर शिकायतें कर रही हैं। हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट तक जाकर भी इसने गलत तथ्यों के बल पर फंसाने की कोशिश की, लेकिन दोनों जगह हार चुकी है। कोर्ट ने जांच के आदेश दिए हैं, यह समझ से परे हैं। कानूनी रूप से इस मामले को समझने के बाद उचित कदम उठाए जाएंगे। 
... और पढ़ें

निजी विश्वविद्यालयों को 25 फरवरी तक नियुक्त करने होंगे नए कुलपति

जांच-सांकेतिक
हिमाचल प्रदेश के आठ निजी विश्वविद्यालयों को अयोग्य करार दिए जाने के चलते पद छोड़ने वाले कुलपतियों की जगह नए कुलपतियों की नियुक्ति 25 फरवरी से पहले करनी होगी। निजी शिक्षण संस्थान नियामक आयोग ने ऐसे विश्वविद्यालयों के चांसलरों को पत्र जारी कर सभी नियमों को पूरा करने वालों को ही कुलपति नियुक्त करने को कहा है। नियुक्ति से संबंधित नए कुलपतियों के सभी दस्तावेज आयोग में भी जमा करवाने को कहा गया है। 

आठ निजी विवि के कुलपतियों के इस्तीफे देने के बाद निजी शिक्षण संस्थान नियामक आयोग ने भविष्य की नियुक्तियों के लिए सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। सभी निजी विवि को आयोग ने निर्देश दिए हैं कि यूजीसी से तय नियमों को पूरा करने वालों को ही कुलपति नियुक्त किया जाएगा। अगर दूसरी बार फिर किसी विवि में अयोग्य कुलपति पाए गए तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

नियामक आयोग के अध्यक्ष मेजर जनरल सेवानिवृत्त अतुल कौशिक ने बताया कि निजी शिक्षण संस्थानों में गुणवत्ता युक्त शिक्षा मिले और योग्य लोगों की वहां नियुक्ति हो। इसके लिए आयोग प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि निजी विवि स्वायत्त संस्थाएं हैं। अपने स्तर पर कुलपति को नियुक्त करने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन आयोग को कुलपतियों की नियुक्ति करने के बाद पूरा रिकॉर्ड देना होगा। 25 फरवरी से पहले नए कुलपतियों की नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करनी होगी।
... और पढ़ें

हिमाचल में 20 मार्च तक पूरी हो जाएंगी नॉन बोर्ड कक्षाओं की परीक्षाएं

हिमाचल के सरकारी स्कूलों में नॉन बोर्ड कक्षाओं पहली से चौथी और छठी-सातवीं की वार्षिक परीक्षाएं 20 मार्च से पहले पूरी की जाएंगी। 31 मार्च को इनका परीक्षा परिणाम घोषित होगा। एक अप्रैल 2021 से नया शैक्षणिक सत्र शुरू किया जाएगा। शिक्षा विभाग ने जिला उपनिदेशकों को इस बाबत निर्देश जारी कर दिए हैं। इन कक्षाओं की परीक्षाओं के लिए जल्द ही प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय की ओर से डेटशीट जारी की जाएगी। इन नॉन बोर्ड कक्षाओं की परीक्षाएं ऑनलाइन ही होंगी। राइट टू एजुकेशन एक्ट में इन कक्षाओं में किसी भी विद्यार्थी को फेल नहीं किया जाता है। आंतरिक असेसमेंट के आधार पर उन्हें अगली कक्षा में दाखिला दिया जाता है।

प्रदेश सरकार ने इन कक्षाओं को अभी खोलने का फैसला नहीं लिया है ऐसे में बीस मार्च तक इन कक्षाओं की ऑनलाइन परीक्षा करने का फैसला लिया गया है। बीते दिनों हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में पांचवी कक्षा और आठवीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए नियमित तौर पर कक्षाएं लगाने का फैसला लिया गया है। प्रदेश के ग्रीष्मकालीन छुट्टियों वाले स्कूलों में एक फरवरी और शीतकालीन छुट्टियों वाले स्कूलों में 15 फरवरी से नियमित कक्षाएं शुरू होंगी। इन कक्षाओं की परीक्षाओं को लेकर स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से बीते दिनों संभावित डेटशीट भी जारी कर दी गई है।
... और पढ़ें

Shimla News Today 23rd January : शिमला समाचार | सुनिए शहर की ताजातरीन खबरें

एक महीने के भीतर भवन के लिए जमीन तलाशें नई पंचायतें, हिमाचल सरकार ने जारी किए निर्देश

हिमाचल प्रदेश में नई बनी पंचायतों को एक महीने के भीतर पंचायत घरों के लिए जमीन तलाशने के आदेश दिए गए हैं। सरकार ने पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव से पहले प्रदेश में 389 पंचायतों का गठन किया है। अब इनमें चुनाव की प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है। इनमें काम सुचारु रूप से चलाने के लिए हर पंचायत के लिए पंचायत भवन का होना अनिवार्य है। ऐसे में नई बनी पंचायतों को एक महीने में पंचायत घर के लिए जमीन तलाश करने के लिए कहा गया है। जमीन तलाश करने के बाद भवन निर्माण में भी काफी समय लगेगा, ऐसे में सरकार ने कहा है कि नई पंचायतें अपने क्षेत्रों में महिला, युवक मंडल या स्कूलों में एक कमरे की व्यवस्था कर काम चलाएं।

पंचायतीराज विभाग के अधिकारियों के अनुसार नई पंचायतें भवन निर्माण के लिए जमीन देख लेंगी तो पहले चरण में निर्माण कार्य के लिए इन्हें पांच-पांच लाख रुपये की धनराशि जारी की जाएगी। बताया जा रहा है कि एक पंचायत भवन के निर्माण और उसमें बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए कम से कम 25 लाख रुपये तक की राशि खर्च होगी। प्रदेश में कुल 3615 पंचायतों में से 3226 में पंचायत घर बने हुए हैं। नई बनी किसी भी पंचायत में पंचायत घर उपलब्ध नहीं है। उधर, राज्य पंचायतीराज विभाग के अतिरिक्त निदेशक केवल शर्मा ने कहा कि सभी नई पंचायतों को पंचायत घर के निर्माण के लिए एक माह से भीतर जमीन तलाशने को कहा गया है। जब तक नया पंचायत घर नहीं मिलेगा, तब तक महिला मंडलों, युवक मंडलों या स्कूल के खाली कमरों से पंचायत का काम चलाया जा सकता है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X