सरकारी स्कूल से पढ़कर नासा तक पहुंचा किसान का बेटा, 55 लाख से ज्यादा का सालाना पैकेज

कासिम अंसारी, अमर उजाला, सितारगंज Updated Wed, 28 Oct 2020 02:30 AM IST
विज्ञापन
गुरजीत
गुरजीत - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

सार

  • 55 लाख से अधिक के सालाना पैकेज पर हुआ है गुरजीत सिंह का चयन
  • आईआईटी खड़गपुर से सॉयल एंड वाटर कंजरवेशन इंजीनियरिंग में किया था एमटेक 

विस्तार

कहते हैं कि विद्या का मंदिर छोटा हो या बड़ा, शिक्षा सबके लिए समान होती है। बस कामयाबी पाने के लिए मन में जज्बा और लगन होनी चाहिए। किसान के बेटे गुरजीत सिंह ने इसे चरितार्थ भी कर दिखाया है। गुरजीत ने जीआईसी से पढ़कर पंतनगर विवि से बीटेक और आईआईटी खड़गपुर से एमटेक किया। इसके बाद भुवनेश्वर से पीएचडी कर गुरजीत को अब नासा जाने का अवसर मिला है। उनकी इस कामयाबी से परिजन गदगद हैं। 
विज्ञापन

सिसौना गांव निवासी गुरजीत सिंह ने नासा जाने के सपने को लेकर पढ़ाई की। वर्ष 2003 में नगर के राजकीय इंटर कॉलेज से इंटरमीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद वर्ष 2009 में गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से बीटेक किया। इसके बाद आईआईटी खड़गपुर से सॉयल एंड वाटर कंजरवेशन इंजीनियरिंग में एमटेक किया और नासा जाने के लिए पीएचडी में जुट गए।
उनकी मेहनत रंग लाई और गुरजीत ने शोध पूरा करने के बाद नासा के लिए आवेदन किया तो नासा में जेपीएल (जेट प्रोपल्शन लैबोरेटरी) में पोस्ट डॉक्ट्रल स्कॉलर में उनका चयन हो गया। गुरजीत ने वहां ज्वाइन भी कर लिया और 55 लाख से अधिक का सालाना पैकेज मिल रहा है। गुरजीत के पिता सुरजीत सिंह किसान हैं जबकि माता गुरमीत कौर गृहणी हैं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

जर्मनी की एक कंपनी में भी हुआ था चयन

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X